Soulgasm

To Quill the Mocking World

बारिश


Deepak Singh
(3 min read)

main_900

ना जाने कितने चेहरे धुले होंगे,

ना जाने कितने मुखौटे उतरे होंगे;

इस बारिश में ।।

ना जाने कितने ख्वाब जागे होंगे,

ना जाने कितने सपने टूटे होंगे,

इस बारिश में ।।

ना जाने कितनी बांछें खिली होंगी,

ना जाने कितने माथे सिकुड़े होंगे,

इस बारिश में ।।

ना जाने कितनी कागज़ की नावें तैरी होंगी,

ना जाने कितने जहाज़ डूबे होंगे;

इस बारिश में ।।

ना जाने कितनी ऊँचाइयाँ किसी ने छुयी होंगी,

ना जाने कितनी पगड़ियाँ उछली होंगी;

इस बारिश में ।।

ना जाने कितनी नींव पड़ी होंगी,

ना जाने कितने झोपड़े ढहे होंगे;

इस बारिश में ।।

ना जाने कितनी आँखें चमकी होंगी,

ना जाने कितनी आँखें बुझी होंगी;

इस बारिश में ।।

ना जाने कितनी कलाइयाँ मुड़ी होंगी,

ना जाने कितनी चूड़ियाँ टूटी होंगी;

इस बारिश में ।।

ना जाने कितने मंसूबे बंधे होंगे,

ना जाने कितनी हिम्मतें टूटी होंगी;

इस बारिश में ।।

ना जाने कितने कलमे किसी ने पढ़े होंगे,

ना जाने कितनी मिन्नतें किसी ने की होंगी;

इस बारिश में ।।

ना जाने कितनी बाढें आई होंगी कोसी में,

ना जाने कितने विदर्भ सूखे होंगे;

… इसी बारिश में ।।


Picture Credits

Deepak is a Guest author at Soulgasm.

(Click here to read our first book “Mirrored Spaces” : A poetry and art anthology in English and Hindi with contributions from 22 artists)

Advertisements

6 comments on “बारिश

  1. अश्वनी सिंह
    December 10, 2016

    अद्भुत… अपने शब्दों में कुछ भी लिखकर नादानी नहीं करूँगा।

    Liked by 1 person

    • deepakponders
      December 12, 2016

      बहुत शुक्रिया!!
      पहला शब्द ही काफी था!

      Like

  2. Shantanu Jain
    December 14, 2016

    Hey Deepak, nice flow of thoughts into the words. I would also like to share that as far as my limited knowledge is concerned, there is no hindi word like “ना”. It’s actually “न”. You may verify it and use it accordingly.

    Keep writing, keep sharing.

    Like

    • deepakponders
      December 15, 2016

      Thank you.
      Will check and get back to you.
      Thanks for enlightening once again.

      Like

  3. Volkanux
    December 16, 2016

    Nice… I like it.
    Perfect use of ur thoughts & words.
    Keep writing

    Like

  4. deepakponders
    December 17, 2016

    Thank you.
    It means a lot. 🙂

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Information

This entry was posted on December 10, 2016 by in Hindi, Poetry and tagged .

Blog Stats

  • 86,905 times visited

Top Rated

%d bloggers like this: